Top 10 Ayurvedic Treatments For Dry Skin | रुखी त्वचा के लिए घरेलू उपाय

Mantra Jap Vidhi Neyam माला से कैसे करे सही तरीके से मंत्रो का जाप
June 16, 2018
Cumin seeds benefits for health
July 2, 2018

Top 10 Ayurvedic Treatments For Dry Skin | रुखी त्वचा के लिए घरेलू उपाय

Top-7-Ayurvedic-Treatments-For-Dry-Skin Gyanyog.net

त्वचा शुष्क होने के कई कारणों में से एक कारण आसपास का वातावरण है। सर्दियों में ठंडी हवा चलने पर त्वचा शुष्क होती है। त्वचा की कई बीमारियाँ जैसे एक्जीमा भी बढ़ने लगती है। किसी दवाई को लंबे समय तक लेने से भी त्वची शुष्क हो सकती है। कीटाणुओं के संक्रमण से भी त्वचा शुष्क होती है।

यह समस्या आमतौर पर सर्दियों के मौसम में देखी जाती है जब तेज़ हवाओं के चलने की वजह से आपकी त्वचा अनाकर्षक हो जाती है। क्योंकि इस समय आपके त्वचा की नमी खोने लगती है, अतः आपको अपनी त्वचा के स्वरुप पर खुजली जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इससे त्वचा की कई गंभीर बीमारियाँ जन्म ले सकती हैं और एलर्जी (allergy) तथा चिडचिडापन भी पैदा होता है।

केले का मास्क (Banana Mask se dry skin ke liye gharelu nuskhe)

केले में त्वचा के स्वास्थ सम्बन्धी कई गुण होते है | एक पका केले ले और उसे मेश कर ले | अब इस पेस्ट को पूरे चेहरे पर लगाये और 20 मिनट तक रहने दे | 20 मिनट बाद चहरे को गर्म पानी से धो लीजिये |

बादाम का तेल (Almond oil)

रुखी त्वचा (Dry Skin) के लिये विटामिन इ (Vitamin E) काफी महत्वपूर्ण होती है | बादाम के तेल में काफी मात्रा में विटामिन इ होता है जो रुखी और अनाकर्षक त्वचा को नमी प्रदान करता है इसके लिए एक कटोरी में थोडा सा बादाम का तेल ले और इसे थोडा सा गुनगुना कर ले | अब इस गुनगुने तेल को अपने हाथ, पैर और चेहरे पर लगाये | नमी प्रदान करने के लिए इसका रोज इस्तेमाल करें |

नारियल (Coconut)

नारियल से तेल निकाल कर भी इसका प्रयोग अपने चेहरे और त्वचा के अन्य भागो पर कर सकते है | क्योंकी नारियल के दूध में एक फैटी एसिड (Fatty Acid) होता है | नारियल के तेल की मालिश करने से भी त्वचा की परत पर काफी मात्रा में नमी का सृजन होता है | आप स्नान करने के बाद नारियल के तेल का प्रयोग अपने पूरे शरीर पर भी कर सकते है |

दूध की मलाई (Milk cream)

अगर आप रुखी त्वचा से परेशान है तो आपके लिये त्वचा की मृत कोशिकाए निकालना काफी आवश्यक है | दूध की मलाई में मौजूद लैक्टिक एसिड (Lactic acid) त्वचा को एक्स्फोलिएट (exfoliate) करके इसकी मृत कोशिकाओं को निकालने में मदद करता है | इस उत्पाद से त्वचा का पैक बनाने के लिये एक छोटे पात्र में नीबू के रस की कुछ बूंदे डाले और इसमें 2 चम्मच दूध की मलाई को भी मिक्स करे | इन्हें अच्छे से मिलाये और अपने चेहरे तथा गले पर लगाये | इसके बाद इसे 15 मिनट के लिए छोड़ दे और पानी से अच्छे से धो ले |

शहद (Honey)

रुखी त्वचा का घरेलू इलाज शहद भी है | शहद त्वचा को चमकदार व् सुन्दर बनाता है | एक चुटकी शहद ले कर इसे पूरे चेहरे पर लगाये | इसे कुछ देर तक त्वचा पर सूखने दे और फिर अपना चेहरा धो ले |

शुष्क त्वचा – प्राक्रतिक उपाय (Go natural)

जिनकी त्वचा रुखी होती है उन्हें अधिक मात्रा में क्लीजिंग एजेंट युक्त साबुनो का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए| इससे त्वचा में रुखापन और बढ़ता है |और वह सूखी पड़ने लगती है | त्वचा की सफाई करने वाले प्राक्रतिक तत्व जैसे बेसन के पाउडर का त्वचा को नमी प्रदान करने के लिए करे |

मकई का आटा (Cornstarch)

जब नहाने जाये तो नहाने के पानी में 2 चम्मच मकई का आटा मिला लीजिये | यह रुखी और खुजली वाली त्वचा पर तुरंत असर करता है |

 

शुष्क त्वचा-ड्राई स्‍किन के कारण (Causes for dry skin)

विटामिन की कमी (Vitamin deficiency) – आवश्यक विटामिन जैसे विटामिन ए, सी और इ की कमी से त्वचा शुष्क होती है। ऐसे खाद्य पदार्थ खाएं जिनमे इन विटामिन की मात्रा अधिक हो।

पर्यावरण (Environment) – ठण्ड के मौसम में त्वचा की नमी चली जाती है और त्वचा को रूखा बना देती है।तापमान और नमी के स्तर से रूखी त्वचा होती है। सर्दियों में त्वचा के लिए मॉइस्चराइजर इस्तेमाल करें।

लम्बे समय तक और गर्म पानी से नहाना (Long bath and hot baths) – इस प्रकार नहाने से भी त्वचा रूखी हो जाती है। कुछ लोगों को दिन में 3-4 बार नहाने के आदत होती है। गर्म पानी त्वचा से नमी सोखकर उसे शुष्क बनाता है।

लम्बे समय तक सूरज के संपर्क में रहना (Long exposure to sun) – धूप में ज़्यादा देर तक रहने से त्वचा शुष्क और इसकी रंगत फीकी पड़ जाती है। सूरज की UV किरणें त्वचा की नमी छीन लेती हैं। धुप में ज्यादा देर त्वचा खुली रहने से सूर्य के अल्ट्रावायलेट किरण त्वचा को शुष्क बनाते हैं।

ब्यूटी प्रॉडक्ट्स (Beauty Products) – बाल काटने के या बालों को निकालने के मशीन भी त्वचा को शुष्क बना सकते हैं।

पानी की कमी (Dehydration) – शरीर में पानी का स्तर कम होने पर भी रूखी त्वचा होती है।

आनुवांशिक (Hereditary) – अगर आपके माता या पिता की त्वचा शुष्क हो तो आपको भी जन्म से वैसी त्वचा होने की संभावना बढती है। अगर आपके परिवारजनों और रिश्तेदारों की त्वचा रूखी है, तो आपकी त्वचा भी रूखी होने की काफी संभावना होती है। अतः अगर आपने अपने पूर्वजों से रूखी त्वचा पाई है तो कुछ घरेलू नुस्खों का पालन करना सबसे अच्छा रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *