January 6, 2018

How to live more than 100 Year’s with Yoga Breath Balance

Breath Balance account or BBA is the total number of breaths that are yet to be taken in this lifetime. An average adult human at rest […]
January 4, 2018

kya satguru se milne ke liye Guru jaruri hai

ऊँ नमो नारायण जी । गुरु बाहर रहते हैं और वे सद्गुरु तक पहुँचने का रास्ता बताकर वहाँ तक पहुँचाकर अपना कर्तव्य पूरा कर देते हैं। […]
January 4, 2018
Tantra Sutra Vidhi – 2 OSHO Gyanyog.net

Tantra Sutra Vidhi – 2 OSHO

जब श्‍वास नीचे से ऊपर की और मुड़ती है, और फिर जब श्‍वास ऊपर से नीचे की और मुड़ती है—इन दो मोड़ों के द्वारा उपलब्‍ध हो। […]
December 28, 2017
agyat ki aur

अज्ञात की ओर Aghori Secrets

अज्ञात की ओर केवल अति साहसिक व्यक्ति ही जा सकते हैं, पूर्ण समर्पण, पूर्ण श्रद्धा चाहिये । तभी अनन्त की ओर अज्ञात में जाया जा सकता […]
December 27, 2017
vigyan bhairav tantra sutra vidhi 1

Tantra Sutra Vidhi – 1 OSHO

Tantra Sutra Vidhi शिव कहते है: हे देवी, यह अनुभव दो श्‍वासों के बीच घटित हो सकता है। श्‍वास के भीतर आने के पश्‍चात और बाहर […]

भगवान शिव को तंत्र शास्त्र का देवता माना जाता है।

अघोरपंथ के जन्मदाता भी भगवान शिव ही हैं। पवित्र श्रावण मास चल रहा है। इस महीने में मुख्य रूप से भगवान शिव की पूजा का विधान है। धर्म ग्रंथों के अनुसार, भगवान शिव की पूजा के दो तरीके बताए गए हैं पहला है सात्विक व दूसरा तामसिक। सात्विक पूजा के अंतर्गत भगवान शिव की पूजा फल, फूल, जल आदि से की जाती है। वहीं तामसिक पूजा के अंतर्गत तंत्र-मंत्र आदि से शिव को प्रसन्न किया जाता है।

PAURANIK KATHA