December 12, 2017

Maha Sudarshana Mantra

सुदर्शन चक्र भगवान विष्णु के शक्तिशाली  हथियार का नाम है। यह सबसे शक्तिशाली दिव्य हथियारों में से एक माना जाता है जो सभी बुराइयों को नष्ट […]
December 8, 2017
Bhagwan parshuram Story in Hindi, परशुराम की कथा

जानिए, अपनी माता का वध क्यों किया था परशुराम ने

आज हम आप को बताये गए को काटा था परशुराम ने अपनी माँ का सर , और कहा पे उनको अपनी माँ के हत्या के पास […]
December 6, 2017
shani-dev-maharajfacts-and-stories

Shani Dev Se Jude Adbhut Rahsya

काशी-विश्वनाथ की स्थापना करी थी शनि देव ने :- स्कन्द पुराण में काशी खण्ड में वृतांत आता है, कि छाया सुत श्री शनिदेव ने अपने पिता भगवान […]
December 6, 2017

24 types of Gayatri Mantra

 Gayatri Mantra गायत्री मंत्र को ब्रह्मर्षि विश्वामित्र से पहले पेश किया गया था। गायत्री मंत्र का मूल महत्व सूर्य भगवान की पूजा है। वेदों के अनुसार, […]
December 3, 2017

कौरव सो नहीं एक सो दो थे कौरवो के जन्म से जुडी रोचक कथा

आप सभी को यह सुनकर आश्चर्य होता होगा कि एक ही माँ की एक सो एक संताने कैसे हो सकती हैं ? माता गांधारी एवम धृतराष्ट्र […]

भगवान शिव को तंत्र शास्त्र का देवता माना जाता है।

अघोरपंथ के जन्मदाता भी भगवान शिव ही हैं। पवित्र श्रावण मास चल रहा है। इस महीने में मुख्य रूप से भगवान शिव की पूजा का विधान है। धर्म ग्रंथों के अनुसार, भगवान शिव की पूजा के दो तरीके बताए गए हैं पहला है सात्विक व दूसरा तामसिक। सात्विक पूजा के अंतर्गत भगवान शिव की पूजा फल, फूल, जल आदि से की जाती है। वहीं तामसिक पूजा के अंतर्गत तंत्र-मंत्र आदि से शिव को प्रसन्न किया जाता है।

PAURANIK KATHA